Thursday, March 1, 2012

चिड़िया

कितनी  प्यारी लगती चिड़िया
तिनका तिनका बिनती चिड़िया!!

भोर के पहली किरणों के संग
चीटर चीटर  चहकती चिड़िया !!

चूजों  के निवाले  के खातिर
दाना दाना चुनती चिड़िया !!


सुबह शाम घर   आँगन   में 
फुदक फुदक  टहलती  चिड़िया!!

देखा है तूफानी रातों में 
दुबके दुबके  रहती चिड़िया!!

वन उपवन को यूँ न काटो
सहमे सहमे कहती चिड़िया!! 

दया भाव हम इंसानों में 
चहक चहक भरती चिड़िया !!

कितनी  प्यारी लगती चिड़िया!!
कितनी  प्यारी लगती चिड़िया!!





























1 comment:

  1. बहुत-बहुत ही अच्छी भावपूर्ण रचनाये है......

    ReplyDelete