Sunday, December 1, 2013

अँधेरा बुझाने के लिए सिर्फ रौशनी चाहिए


मशालों  को  दिये -बाती  से  मत  तौलो 
चाँद  सितारों  की  चालों  के  कहे  पर  न  चलो 


देखो  अँधेरा   बुझाने  के  लिए  सिर्फ   रौशनी  चाहिए !!

2 comments:

  1. बहुत खूब ... लाजवाब त्रिवेणी ...

    ReplyDelete