Saturday, August 1, 2015

भरोसा

प्याला खाली पड़ा है आँगन में 
साकी के इंतज़ार में शायर अन्दर है 


उसे अब भी बादल पर भरोसा है की वो भर देंगे उसे ..


No comments:

Post a Comment

दोहे

पके   आम   के  संग -संग   रेशे  भी   होवत    आम   उतना  ही  रसपान  करें  जिससे   मिले   आराम   लीची   मीठी    होवत   है  पर बीज    कसैला  ...