Thursday, May 12, 2016

बाग लगा दो

शोर किया पंछी ने ,तो दाना क्यों ले आये
बाग लगा दो  दाना तिनका चुग लेंगे ,चुन लेंगे 

नींद के मारे हैँ सारे,न जाकर  उन्हें उठायें
जिस रोज़ खुद जागेंगे ,ख्वाब वहीं बुन लेंगे 

हम न बोले तो कैसे, होगा फिर बात नुमाया
और यही सच है कि आप तो बस सुन लेंगे

No comments:

Post a Comment